‘नशा क्वीन भाभी’ पर योगी सरकार की सख्ती, करोड़ों की संपत्ति हुई कुर्क

 पीलीभीत
 
मादक पदार्थों की तस्करी में शामिल सीमा पांडेय की करोड़ों की संपत्ति बुधवार को सीज कर दी है। इसमें आवासीय मकानों के अलावा प्लाट और कृषि भूमि शामिल है। एसडीएम को इसका प्रशासक नियुक्त किया गया है। जिला मजिस्ट्रेट के समक्ष इस मामले से जुड़े साक्ष्य पेश करने को 15 दिन का समय भी दिया गया है। कार्रवाई से खलबली मची हुई है।

पूरनपुर लाइनपार साहूकारा की रहने वाली सीमा पांडेय उर्फ भाभी क्षेत्र में नशा क्वीन के नाम से फेमस है। बुधवार को जिला मजिस्ट्रेट के आदेश पर एसडीएम राकेश गुप्ता, सीओ वीरेंद्र विक्रम, तहसीलदार अशोक गुप्ता और कोतवाल अशोक पाल ने सीमा पांडेय का साहूकारा में 115 और 217 बर्ग गज के दो आवासीय मकान, पड़ोस में 182 गज का प्लाट और धनाराघाट रोड पर 320 गज का प्लाट सीज किया है। इसके अलावा जेठापुर में स्थित 4 बीघा कृषि योग्य भूमि भी कुर्क की गई है। गैर कानूनी ढंग से बनाई गई संपत्ति की कुल कीमत 3 करोड़ 8 लाख 18 हजार 765 रुपए आंकी गई है। पुलिस ने 18 अप्रैल को छापेमारी कर सीमा पांडेय, उसके पुत्र मोहित पांडेय और शाहबाजपुर निवासी पार्टनर निशांत सिंह को 3 किलो चरस और 131 स्मेक की पुड़ियों के साथ गिरफ्तार किया था।

कुछ दिन पहले पुलिस ने शेरपुर निवासी एजाज की करोड़ों की संपत्ति कुर्क की थी। सीओ वीरेंद्र विक्रम ने बताया इसमें गैर कानूनी ढंग से अर्जित की गई सीमा पांडे की 3 करोड़ से अधिक संपत्ति जिला मजिस्ट्रेट के आदेश पर कुर्क की गई है। उसे अपना पक्ष रखने के लिए 15 दिन का समय दिया गया है। गैर कानूनी ढंग से संपत्ति अर्जित करने वालों के खिलाफ कार्रवाई जारी रहेगी।

 

Related Articles

Back to top button