भारतीय निवेशकों के फर्जी क्रिप्टो एक्सचेंज से 1000 करोड़ रुपये हुए स्वाहा

नई दिल्ली
अगर आप क्रिप्टोकरेंसी मार्केट में निवेश का प्लान बना रहे हैं, तो आपको सावधान रहने की जरूरत है। वरना आपको भारी नुकसान उठाना पड़ सकता है। ऐसा इसलिए है, क्योंकि हाल ही में एक फर्जी क्रिप्टोकरेंसी का मामला सामने आया है, जहां फर्जी क्रिप्टोकरेंसी एक्सचेंज में निवेश के नाम पर धोखाधड़ी की गई है। एक रिपोर्ट के मुताबिक इस तरह के फर्जी क्रिप्टो एक्सचेंज के मामले में अब तक भारतीयों के करीब 128 मिलियन डॉलर (करीब 1,000 करोड़ रुपये) स्वाहा हो गए हैं।

फर्जी वेबसाइट पर निवेश का दिया जा रहा लालच
साइबर सिक्योरिटी कंपनी CloudSEK ने बताया कि फर्जी क्रिप्टोकरेंसी एक्सचेंज के कई डोमेन्स और एंड्रॉइड बेस्ड फेक क्रिप्टो एप्लीकेशन की पहचान की गई है। जहां इस तरह फर्जी कैंपेन में बड़े पैमाने पर धोखाधड़ी को अंजाम दिया जाता है। क्रिप्टो एक्सचेंज के नाम पर एक नई फर्जी वेबसाइट CoinEggg बनाई गई है, जो कि यूके बेस्ट क्रिप्टोकरेंसी एक्सचेंज है। निवेशको को इस प्लेटफॉर्म पर निवेश के लिए तरह-तरह के लालच दिए जाते हैं।

फर्जी क्रिप्टो वेबसाइट में निवेश पर इनाम
CloudSEK को एक विक्टिम ने संपर्क किया था, जिसने फर्जी क्रिप्टोकरेंसी में 50 लाख रुपये (64,000 डॉलर) का नुकसान उठाया है। क्लाउडसेक के संस्थापक और सीईओ राहुल ससी ने बताया कि क्रिप्टो घोटालों की संख्या में इजाफा दर्ज किया गया है। इन मामलों में नकली डोमेन के जरिए बिल्कुल असली जैसी वेबसाइट बनाई जाती है। इसके बाद क्रिप्टो ट्रेडिंग के लिए आमंत्रित किया जाता है। इस तरह के मामलों में हमलावर पीड़ित से संपर्क करता है। इसके बाद दोस्ती का मैसेज भेजा जाता है और फिर क्रिप्टो मार्केट में निवेश के लिए प्रोत्साहित किया जाता है।क्रिप्टो मार्केट में निवेश के लिए लालच के तौर पर 100 डॉलर का इनाम भी मिलता है। इस तरह से फर्जी क्रिप्टो मार्केट में निवेश की सलाह दी जाती है। वही विक्टिम को शुरुआती फायदे के बाद बेहतर रिटर्न का वादा करके बड़े निवेश कराया जाता है। इसके बाद फ्रॉड को अंजाम दिया जाता है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button