Multibagger Stock: 3 साल में 1100 फीसदी रिटर्न, 8000 रुपये का निवेश बना 1 करोड़

Multibagger Stocks: एक ऐसा शेयर है जिसने लॉन्ग टर्म में महज 8 हजार रुपये के निवेश पर ही निवेशकों को करोड़पति बना दिया है। सिर्फ इतना ही नहीं महज 9 महीने में इसने 191 फीसदी से अधिक रिटर्न दिया है। अब तो स्थिति ये है कि घरेलू ब्रोकरेज फर्म ने भी इसकी कवरेज शुरू कर दी है। चेक करें कि क्या यह आपके पोर्टफोलियो में है?

Multibagger Stocks: कुछ शेयर ऐसे होते हैं जो लॉन्ग टर्म में ताबड़तोड़ रिटर्न देते हैं तो कुछ में शॉर्ट टर्म में ही धमाकेदार हो पाती है। इन सबके बीच ऐसा एक शेयर ही पिट्टी इंजीनियरिंग (Pitti Engineering) का जिसने लॉन्ग टर्म में महज 8 हजार रुपये के निवेश पर ही निवेशकों को करोड़पति बना दिया है। सिर्फ इतना ही नहीं महज 9 महीने में इसने 191 फीसदी से अधिक रिटर्न दिया है।

अब तो स्थिति ये है कि घरेलू ब्रोकरेज फर्म एक्सिस सिक्योरिटीज ने भी इसकी कवरेज शुरू कर दी है। ब्रोकरेज ने इसमें निवेश के लिए जो टारगेट दिया है, उसके हिसाब से मुनाफावसूली के चलते मौजूदा गिरावट को निवेश के गोल्डेन चांस के रूप में देखना चाहिए। दो दिन पहले यह रिकॉर्ड हाई पर था। इस हाई से फिलहाल यह बीएसई पर यह 5 फीसदी डाउनसाइड 710 रुपये के भाव पर है। ब्रोकरेज का टारगेट इस भाव से करीब 29 फीसदी अपसाइड है।

₹8000 का निवेश बन गया एक करोड़

पिट्टी इंजीनियरिंग के शेयर 3 जून 2003 को महज 57 पैसे में मिल रहे थे। अब यह 710 रुपये पर है यानी कि महज 8 हजार रुपये के करीब निवेश पर ही निवेशक 20 साल में करोड़पति बन गए। ऐसा नहीं है कि इसने सिर्फ लॉन्ग टर्म में ही ताबड़तोड़ रिटर्न दिया है बल्कि शॉर्ट टर्म में इसने धांसू कमाई कराई है। 16 मार्च 2023 को यह एक साल के निचले स्तर 256.80 रुपये पर था। इसके बाद 9 ही महीने में यह 191 फीसदी से अधिक उछलकर 5 दिसंबर 2023 को 748 रुपये की रिकॉर्ड हाई पर पहुंच गया। मुनाफावसूली के चलते इस रिकॉर्ड हाई से फिलहाल यह करीब 5 फीसदी नीचे आ चुका है।

Also Read: UPI Payment Transaction Limit: अब UPI से होंगे 5 लाख तक ट्रांसफर, लोग भुलेंगे RTGS!

Pitti Engineering में अब आगे क्या है रुझान

पिट्टी इंजीनियरिंग इलेक्ट्रिकल लेमिनेशन, मोटर कोर, सब-असेंबली, डाई-कास्ट रोटर्स और प्रेस टूल्स बनाने वाली देश की सबसे बड़ी कंपनी है। ब्रोकरेज ने मुख्य रूप से तीन वजहों से इसे खरीदने की सलाह दी है। एक तो ये कि कंपनी अपनी क्षमता बढ़ा रही है जिससे इसके ग्रोथ होगी। दूसरा ये कि कंपनी वैल्यू एडेड प्रोडक्ट्स पर अधिक जोर दे रही है और तीसरा ये कि यह देश के बाहर भी तेजी से विस्तार कर रही है।

ब्रोकरेज एक्सिस सिक्योरिटीज का अनुमान है कि कंपनी का रेवेन्यू वित्त वर्ष 2026 तक 13 फीसदी की सालाना चक्रवृद्धि दर से बढ़कर 1588 करोड़ रुपये और EBITDA भी 13 फीसदी की CAGR से बढ़कर 258 करोड़ रुपये पर पहुंच जाएगा। इसका ऑपरेशनल मार्जिन भी 2.40 फीसदी सुधरकर 16.2 फीसदी पर पहुंच जाएगा। इन सब वजहों से ब्रोकरेज ने इसे 915 रुपये के टारगेट प्राइस पर खरीदारी की रेटिंग दी है।

Redmi Note 13R Pro, 108MP Camera और 12GB RAM के साथ हुआ लॉन्च

Show More

Related Articles

Back to top button