हवाई यात्रियों की संख्या भारत में तेजी से बढ़ रही, इस साल हो सकता है 73 फीसद का इजाफा

नई दिल्ली
भारत में हवाई यात्रियों की संख्या लगातार बढ़ रही है और इस साल इसमें 73 फीसद का इजाफा हो सकता है। क्रेडिट रेटिंग एजेंसी आईसीआरए ने गुरुवार को कहा कि उसने भारतीय एयरपोर्ट इंफ्रास्ट्रक्चर के आउटलुक को 'नेगेटिव' से घटाकर 'स्टेबल' कर दिया है। आउटलुक में सुधार ऐसे समय पर किया है, जब देश में नई एयरलाइन्स शुरू हो रही हैं और यात्रियों की संख्या में इजाफा हो रहा है। आईसीआरए ने अपनी रिपोर्ट में कहा कि उसे उम्मीद है कि इस साल सितंबर से अगले साल अगस्त के बीच में यात्रियों की संख्या कोरोना वायरस के पहले के स्तर को पार कर जाएगी।

यात्रियों की संख्या में बढ़ोतरी
आईसीआरए का अनुमान है कि घरेलू यात्रियों की संख्या इस वित्त वर्ष की चौथी तिमाही में प्री-कोविड स्तर पर पहुंच सकती है, जबकि अंतरराष्ट्रीय यात्रियों की संख्या अगले वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही में प्री-कोविड स्तर पर आ सकती है। आईसीआरए ने अपने बयान में कहा कि घरेलू यात्रियों की संख्या में लगातार बढ़ती रहेगी और आशा है कि ये चालू वित्त वर्ष में ही प्री-कोविड स्तर के 97-98 प्रतिशत पर पहुंच सकती है।

सितंबर में 90 प्रतिशत पहुंचने की उम्मीद
रेटिंग एजेंसी का कहना है कि चालू वित्त वर्ष में हवाई यात्रियों की संख्या में सालाना आधार पर 71 से 73 प्रतिशत तक का इजाफा हो सकता है और यह बढ़कर 32.4- 32.7 करोड़ पर पहुंच सकती है, जो कि प्री-कोविड स्तर का 95 -96 प्रतिशत है।

एयरपोर्ट्स को होगा बड़ा फायदा
समाचार एजेंसी पीटीआइ से बातचीत में आरसीआरए के हेड राजेश्वर बुर्ला ने कहा कि आर्थिक गतिविधियों में सुधार होने के कारण यात्रियों की संख्या में इजाफा हो रहा है और आने वाले समय में त्योहारी और फिर छुट्टियों का सीजन होने के चलते आगे भी इसमें बढ़त जारी रहेगी। इसके कारण एयरपोर्ट की आय में भी इजाफा होगा और कैश फ्लो की स्थिति भी सुधरेगी।

 

Related Articles

Back to top button