मेरठ: कांवड़ खंडित होने पर बवाल, कांवड़ियों ने आरोपी को पीटा, तीन घंटे तक किया हंगामा

मेरठ
यूपी के मेरठ में कांवड़ खंडित किए जाने को लेकर बवाल हो गया। कांवड़ खंडित होने के बाद कांवड़ियों ने जमकर हंगामा किया। इस दौरान गुस्साए कांवड़ियों ने एक गाड़ी को भी निशाना बनाया। पुलिस के पहुंचने पर कावड़िए धरना देकर बैठ गए। तीन घंटे तक हंगामा होता रहा। इसके बाद डीएम दीपक मीणा और एसएसपी रोहित सिंह सजवाण मौके पर पहुंचे और किसी तरह कांवड़ियों को शांत कराया। चार पुलिसकर्मियों को कांवड़िए के साथ हरिद्वार भेजा जा रहा है। एक युवक को हिरासत में लिया गया है जो दूसरे समुदाय का बताया जा रहा है।

राजस्थान के जिला भरतपुर अंतर्गत ग्राम सीकरी से 35 कांवरियों का एक जत्था हरिद्वार से जल लेकर गंतव्य की ओर बढ़ रहा था। आज सुबह कांवरियों का यह जत्था बाईपास पर कृष्णा पब्लिक स्कूल चौकी के पास एक शिविर में ठहरा हुआ था। कावड़िए अंदर विश्राम कर रहे थे और बाहर ग्रुप लीडर योगेश कांवड़ की देखरेख कर रहा था। आरोप है कि इसी दौरान वहां से गुजरे बाइक सवार दो युवकों ने इन कांवड़ियों की विशाल कावड़ को खंडित कर दिया। यह देख योगेश ने शोर मचा दिया और बाइक सवार एक आरोपी को दबोच लिया। देखते ही देखते कांवड़ियों की भीड़ जमा हो गई और उन्होंने आरोपी युवक को जमकर पीटना शुरू कर दिया।

पुलिसकर्मी मौके पर पहुंचे तो कावड़िए उनसे भी भिड़ गए। हाईवे पर बखेड़ा खड़ा हो गया। पुलिसकर्मी आरोपी को भीड़ से बचाकर चौकी के अंदर ले गए। इसी दौरान आक्रोशित कांवरियों ने पुलिस चौकी में भी तोड़फोड़ कर दी। चौकी के बाहर खड़ी हेड कांस्टेबल कुशवेंद्र की कार में भी तोड़फोड़ कर दी गई। बवाल की सूचना पर डीएम दीपक मीणा और एसएसपी रोहित सिंह सजवाण मौके पर पहुंचे और कावड़ियों की मान मनोबल में जुट गए।  अथक प्रयासों के बाद कावड़िए शांत हुए। मुकदमे के आदेश किये गए। बताया जाता है कि चार पुलिसकर्मियों को कांवरियों के इस जत्थे के साथ हरिद्वार कांवड़ लाने रवाना किया जा रहा है। यह पुलिसकर्मी जब तक जत्थे में शामिल रहेंगे, जब तक वह यहां से शाम को रवाना नहीं हो जाते। करीब तीन घंटे तक हाइवे पर हंगामा होता रहा। मामला शांत होने के बाद जैसे-तैसे पुलिस प्रशासन ने व्यवस्था को सामान्य कराया।

अज्ञात कांवड़ियों के खिलाफ भी मुकदमे की तैयारी
एसपी सिटी विनीत भटनागर ने बताया कि क्षेत्रीय कुछ लोग इस मामले में चिन्हित किए गए हैं, जिन्होंने कांवरियों को भड़काने का काम किया था। इन लोगों के अलावा उपद्रव मचाने वाले अज्ञात कावड़ियों के खिलाफ भी मुकदमा दर्ज किया जा रहा है।  उन्होंने बताया कि उपद्रव मचाने वाले आरोपी को पुलिस से छीनने का प्रयास कर रहे थे। पुलिस ने मना किया तो उन्होंने चौकी और वहां खड़ी एक गाड़ी में भी तोड़फोड़ कर दी।

Related Articles

Back to top button