मंत्री रमेश मीणा के बयान के बाद किरोड़ी की बढ़ी मुश्किलें, CID-CB ने दिए चालान पेश करने के दिए आदेश

जयपुर
राजस्थान के बांदीकुई रेलवे स्टेशन पर पथराव के मामले में राजस्थान से भाजपा सांसद किरोड़ी लाल मीणा की मुश्किलें बढ़ गई है। सीआईडी सीबी ने 3 वर्ष पुराने मामले में सांसद किरोड़ीलाल, आरएलपी सांसद हनुमान बेनीवाल और भाजपा विधायक रामलाल मीणा के खिलाफ चालान पेश करने का आदेश दिया है।उल्लेखनीय है कि हाल में पंचायतीराज मंत्री रमेश मीणा ने कहा था कि किरोड़ी लाल के खिलाफ 5 आपराधिक मुकदमे दर्ज है। किरोड़ी लाल को गिरफ्तार करन लेना चाहिए। जवाब में किरोड़ी लाल ने कहा कि रमेश मीणा भू माफिया और लूटेरा है। रमेश मीणा की मां ने दूध पिया है तो गिरफ्तार करवा दें। तीन दिन पहले दिए बयान के बाद किरोड़ी लाल सीआईडी सीबी ने किरोड़ी लाल के खिलाफ चालान पेश करने का आदेश दिया है।

बांदीकुई रेलवे स्टेशन पर राजकार्य में बाधा का आरोप
यह मामला वर्ष 2019 में बांदीकुई रेलवे स्टेशन पर ट्रेन रोकने, राजकार्य में बाधा, सरकारी और रेलवे की संपत्ति को नुकसान पहुंचाने, पुलिसकर्मियों पर पथराव करने का है। सीआईडी सीबी के एसपी शरद चौधरी ने सभी नामजद दो दर्जन लोगों को दोषी माना है। इस संबंध में पुलिस अधीक्षक जीआरपी अजमेर को चालान पेश करने के आदेश दिए हैं। अब जांच अधिकारी को 15 दिन में चालान पेश कर रिपोर्ट पुलिस मुख्यालय भेजनी होगी।

3 साल में हुई मामले की जांच पूरी
उल्लेखनीय है कि दौसा कोतवाली के तत्कालीन सीआई गणपतराम की रिपोर्ट पर दर्ज हुए मामले में 3 साल बाद CID-CB की जांच पूरी हुई है। गणपतराम ने रिपोर्ट में बताया था कि थानागाजी, अलवर में हुई सामूहिक गैंगरेप की घटना के विरोध में 15 मई 2019 को किरोड़ी लाल मीणा, हनुमान बेनीवाल विधायक गोपीचंद ने संत सुंदर दास स्मारक पर विरोध सभा की थी। सभा के बाद किरोड़ी और उनके समर्थकों ने कुछ समय में ही बांदीकुई रेलवे ट्रेक पर कब्जा कर लिया था। किरोड़ी को ट्रैक खाली करने के लिए कहा तो उन्होंने और उनके समर्थकों ने पुलिस पर पथराव कर दिया। जिस में 11 पुलिसकर्मी घायल हो गए। साथ ही पुलिस के हथियार टूट गए। पथराव से रेलवे स्टेशन पर भी भारी नुकसान हुआ। मामले में पुलिस ने 71 लोगों को नामजद कर 700 लोगों के खिलाफ मुकदमा चलाया था।

 

Related Articles

Back to top button