MP Breaking: देश के 14 ऐतिहासिक स्मारक खुले रहेंगे रात 9 बजे तक

MP Breaking News: मांडू के ऐतिहासिक जहाज महल, कोणार्क सूर्य मंदिर, पोरबंदर स्थित राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के घर साथ देश के 14 ऐतिहासिक स्मारक अब पर्यटकों के लिए रात 9 बजे तक खुले रहेंगे। भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण ने इसे लेकर आदेश जारी कर दिए हैं।

MP Breaking News: उज्जवल प्रदेश, मांडू. मांडू के ऐतिहासिक जहाज महल, कोणार्क सूर्य मंदिर, पोरबंदर स्थित राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के घर साथ देश के 14 ऐतिहासिक स्मारक अब पर्यटकों के लिए रात 9 बजे तक खुले रहेंगे। भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण ने इसे लेकर आदेश जारी कर दिए हैं।

भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण ने पूरे देश में स्थित विभागीय मंडलों से प्रस्ताव मांगे थे। उसके बाद इन 14 स्थानों को लेकर सहमति बनी और आदेश जारी हुए हैं। इसके पूर्व यह सारे ऐतिहासिक स्मारक सूर्योदय से सूर्यास्त तक पर्यटकों के लिए खुलते थे। नए आदेश जारी होने के बाद पर्यटन को फायदा मिलने और पर्यटन व्यवसाय बढ़ने की उम्मीद जताई जा रही है।

मांडू के जहाज महल को आकर्षक रोशनी से सजाया गया

विभागीय सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार पर्यटन के साथ सुरक्षा को लेकर भी पूरी तरह संतुष्ट होने के बाद यह आदेश जारी हुए हैं। मांडू के ऐतिहासिक जहाज महल को आकर्षक रोशनी से सजाया गया है। यहां शाही परिसर में सिर्फ जहाज महल रात 9 बजे तक खुला रहेगा। यहां भी सैलानी महल के ऊपर प्रवेश नहीं करेंगे जबकि हिंडोला महल, चंपा बावड़ी क्षेत्र में प्रवेश प्रतिबंधित रहेगा।

हालांकि कुछ ही स्थानों पर सुरक्षा को लेकर यह निर्देश मिले हैं जबकि अन्य स्थानों को पूरी तरह खोला जा रहा है। भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण भोपाल के अधीक्षक डॉ मनोज कुर्मी ने बताया कि मध्य प्रदेश से सिर्फ मांडू के जहाज महल को रात में 9 बजे तक खोला जाएगा। जबकि सुरक्षा के दृष्टिकोण से यहां भी निर्धारित क्षेत्र में ही पर्यटक भ्रमण कर सकेंगे। हेरिटेज सिटी सांची के स्तूप को लेकर निर्देश प्राप्त नहीं हुए हैं।

पांच रीजन के यह 14 संरक्षित स्मारक शामिल

भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण ने अपने ईस्ट, वेस्ट, नार्थ, साउथ और सेंट्रल रीजन से 14 संरक्षित स्मारकों का चयन किया है जो रात में भी खुलेंगे। इसमें जहाज महल मांडू मध्य प्रदेश, झांसी का किला उत्तर प्रदेश, मुक्तेश्वर मंदिर भुवनेश्वर उड़ीसा, ग्रुप आफ टेंपल्स कालना कोलकाता पश्चिम बंगाल, श्याम राय टेंपल बिसनापुर पश्चिम बंगाल, सूर्य मंदिर कोणार्क उड़ीसा, एशियन पैलेस लेह कश्मीर, एशियन पैलेस अत्रि बुलेट राजा सचदेव उधमपर जम्मू कश्मीर, बीच घंटकी बुर्ज करनूल, परशु रामेश्वर टेंपल गुड़ी मंलूर चित्तुर, शोर टेंपल मुमलपुरम तमिलनाडु, शिवगंगा लिटिल पैलेस थंजापुर, बृहदीश्वरा टेंपल गंगाईकोंडा और गुजरात पोरबंदर स्थित राष्ट्रपिता महात्मा गांधी का जन्म निवास को शामिल किया गया है।

पर्यटन को लेकर साबित बड़ा कदम हो सकता है

भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण विभाग कि यह कवायद पर्यटन और व्यवसाय ओ बढ़ाने की दिशा में बड़ा कदम साबित हो सकता है। कोरोना काल के बाद पर्यटन का ग्राफ काफी नीचे गया है और पर्यटन से जुड़े लोगों के आर्थिक हालात भी खराब है। ऐसे में यदि धीरे-धीरे रात्रि में खोले जाने वाली महलों की संख्याओं को बढ़ाया जाए तो यह बेहतर कदम साबित होगा।

Ladli Behna Yojana: लाड़ली बहना योजना के फॉर्म 25 जुलाई से फिर भरे जाएंगे, जानें प्रक्रिया

Show More

Related Articles

Back to top button