Jabalpur News : जबलपुर में 18 अप्रैल को रहेंगे डॉ. मोहन भागवत, योगी आदित्यनाथ भी होंगे साथ

Latest Jabalpur News : RSS के सरसंघचालक डॉ. मोहन भागवत आगामी 18 अप्रैल को मध्य प्रदेश की संस्कारधानी यानी कि जबलपुर आएंगे। उनके साथ उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का भी आ रहे हैं।

Latest Jabalpur News : उज्जवल प्रदेश, जबलपुर. राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरसंघचालक डॉ. मोहन भागवत आगामी 18 अप्रैल को मध्य प्रदेश की संस्कारधानी यानी कि जबलपुर आएंगे। उनके साथ उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का भी आ रहे हैं। वे यहां आयोजित संत समागम में शामिल होंगी। इस दौरान सरसंघचालक व्याख्यान भी होगा। दोनों खास मेहमानों के स्वागत के लिए सनातन धर्म महासभा काफी उत्साहित है। जिला प्रशासन भी इस बड़े आयोजन की तैयारियों में जुटा हुआ है। सुरक्षा के दृष्टिकोण से पुलिस प्रशासन और खुफिया तंत्र अलर्ट पर है।

दरअसल, 18 अप्रैल को डॉ. स्वामी श्यामदास महाराज की दूसरी पुण्यतिथि है। उनकी पुण्यतिथि को भव्यता प्रदान करने और उससे लोगों को जोड़ने के लिए सनातन महासभा की ओर से नरसिंह मंदिर परिसर में 12 से 18 अप्रैल तक श्रीराम कथा, संत समागम, श्रीरामार्चा महायज्ञ अवदेव आराधन का आयोजन किया जा रहा है। इसी कार्यक्रम में 18 अप्रैल को सरसंघचालक डॉ. मोहन भागवत और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री आदित्यनाथ योगी का कार्यक्रम प्रस्तावित है। इस दिन डॉ. भागवत और योगी आदित्यनाथ ब्रह्मलीन जगतगुरु श्यामदेवाचार्य की प्रतिमा का अनावरण करेंगे। इस दौरान डॉ. भागवत नरसिंह मंदिर परिसर में आयोजित एक कार्यक्रम में जनता को भी संबोधित करेंगे।

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के वरिष्ठ स्वयंसेवक डॉ. जितेंद्र जामदार ने बताया कि सरसंघचालक डॉ. मोहन भागवत का यह दौरा कई मायनों में कार्यकर्ताओं को ऊर्जा देने वाला है। उन्होंने बताया कि सरसंघचालक जबलपुर में दो स्थानीय कार्यक्रमों में शामिल होंगे। ब्रम्हलीन जगतगुरु श्यामदेवाचार्य की द्वितीय पुण्यतिथि में 18 अप्रैल को सुबह 10:00 बजे प्रतिमा का अनावरण करेंगे और फिर इसी दिन शाम को 4:45 बजे मानस भवन में रामानंदाचार्य के प्राकट्य 723 वर्ष पूर्ण होने में आयोजित कार्यक्रम में व्याख्यान देंगे।

संघ के महाकौशल प्रांत के संघचालक प्रदीप दुबे ने बताया कि योगी आदित्यनाथ के गुरू अवैद्यनाथ के साथ डॉ. श्यामदास महाराज के प्रगाढ़ संबंध थे, जिसके चलते योगी आदित्यनाथ ने भी कार्यक्रम में आने के लिए सहमति प्रदान की है। आयोजन संत समागम का है और यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ गोरखपुर के गोरखनाथ पीठ के महंत भी हैं। इस कारण उनके बिना संत समागम अधूरा ही रहेगा। यही वजह है कि योगी आदित्यनाथ ने जबलपुर में होने जा रहे इस भव्य आयोजन में शिरकत करने सहमति प्रदान की है।

Show More

Related Articles

Back to top button