यमुनानगर: कोरोना संक्रमित 458 की हुई मौत, 336 के आश्रितों ने किया मुआवजे के लिए आवेदन

यमुनानगर
कोरोना संक्रमण से मौत पर सरकार की ओर से स्वजनों को 50 हजार रुपये आर्थिक मुआवजा दिया जा रहा है। इसके लिए सरल पोर्टल पर आवेदन लिए जा रहे हैं। सरल पोर्टल पर 336 आवेदन विभाग को मिल चुके हैं। जिसमें से जांच के बाद 327 के आवेदन स्वीकार कर लिए गए हैं। इन्हें मुआवजा मिल चुका है। जिले में सरकारी रिकार्ड के अनुसार 458 कोरोना संक्रमितों की मौत हुई है। यह आंकड़ा बढ़ भी सकता है, क्योंकि सरकार ने काेरोना आशंकित की मौत पर भी मुआवजा देने के आदेश दिए हैं।

आश्रितों को मिलेंगे 50 हजार रुपये
सरल पोर्टल पर अभी तक सभी मृतकों के आश्रितों ने भी आवेदन नहीं किया है। अभी तक सरकारी रिकार्ड के अनुसार भी आवेदन विभाग को नहीं मिले हैं। कोरोना से मृतकों के आश्रित मुआवजे के लिए आगे नहीं आ रहे हैं। कुछ ऐसे भी लोग हैं, जिन्होंने मरीज की मौत के बाद उसके दस्तावेजों को भी जला दिया। ऐसे में वह भी आवेदन नहीं कर सकते, क्योंकि आवेदन के बाद स्वास्थ्य विभाग को सभी दस्तावेज देने होंगे। जिनकी जांच होगी। इसके बाद ही मुआवजे के 50 हजार रुपये मिलेंगे।

18 जून 2020 को हुई सबसे पहली मौत
18 जून 2020 को सबसे पहले कोरोना संक्रमित की मौत हुई थी। यह मरीज मुलाना मेडिकल कालेज में दाखिल था। उसने कोरोना संक्रमण के तनाव में आकर आत्महत्या कर ली थी। स्वास्थ्य विभाग ने उसे भी कोरोना से ही मौत माना है। सबसे अधिक मौतें कोरोना की दूसरी लहर में अप्रैल व मई 2021 में हुई थी।हालांकि ऐसे में काफी लोग ऐसे थे। जिन्हें कोरोना के लक्षण दिख रहे थे, लेकिन उन्होंने जांच नहीं कराई और घर पर ही आइसोलेट रहे। ऐसे में यदि किसी की मौत हुई है और परिवार को लगता है कि कोरोना से मौत हुई है, तो वह आवेदन कर सकता है। उसे भी लाभ मिलेगा।

 

Related Articles

Back to top button