Ayodhya Ram Mandir: राम लला की प्राण प्रतिष्ठा के लिए निमंत्रण पत्र भेजना शुरू, इन्हें मिला पहला निमंत्रण

Ayodhya Ram Mandir: अयोध्या में ट्रस्ट कार्यालय प्रभारी प्रकाश गुप्ता ने बताया कि सुनिश्चित किया जा रहा है कि निमंत्रण सभी नामित व्यक्तियों तक पहुंचें. उन्होंने बताया कि सिर्फ आमंत्रित व्यक्ति को ही कार्यक्रम में शामिल होने की अनुमति होगी.

Ayodhya Ram Mandir: उज्जवल प्रदेश, अयोध्या. उत्तर प्रदेश स्थित अयोध्या में अगले साल 22 जनवरी को राम मंदिर में राम लला की प्राण प्रतिष्ठा के लिए निमंत्रण पत्र भेजा जाना शुरू हो गया है. इस बीच कार्ड की पहली फोटो सामने आई है. निमंत्रण पत्र के लिफाफे पर लिखा गया है – प्राण प्रतिष्ठा समारोह. इसके अंदर एक पत्र भी है.

इस के अंदर भेजे जा रहे पत्र में लिखा है- आपको विदित ही है कि लंबे संघर्ष के पश्चात श्रीराम जन्मभूमि पर मंदिर निर्माण कार्य प्रगति पर है. पौष, शुक्ल द्वादशी, विक्रम संवत 2080, सोमवार, 22 जनवरी 2024, गर्भगृह में रामलला के नूतन विग्रह की प्राण प्रतिष्ठा की जाएगी. हमारी प्रबल इच्छा है कि आप इस पुनीत अवसर पर अयोध्या में उपस्थित रहकर प्राण प्रतिष्ठा के साक्षी बने और महान ऐतिहासिक दिन की गरिमा बढ़ाएं.

पत्र में कही गयी है ये बात – Ayodhya Ram Mandir

पत्र में लिखा गया है- निवेदन है कि 21 जनवरी के पूर्व अयोध्या पधारने की योजना बनाएं. जितना शीघ्र अयोध्या आएंगे, उतनी ही आपको सुविधा होगा. विलंब से आने पर परेशानियों का का सामना करना पड़ सकता है. 23 जनवरी 2024 के पश्चात ही वापस जाने की योजना बनाएं.

Ayodhya Ram Mandir

इस पत्र के अंत में श्री रामजन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के महासचिव, चंपत राय के दस्तखत भी हैं. इस संबंध में ट्रस्ट के एक अधिकारी ने कहा कि 22 जनवरी को प्राण प्रतिष्ठा होनी है. देश भर में 6000 लोगों को निमंत्रण भेजना है. ऐसे में यह बड़ा काम है. निमंत्रण पत्र पाने वाल एक संत ने बताया कि आज भगवान राम की बहुत बड़ी कृपा हुई हमारे ऊपर कि हमको डाक के द्वारा पहला निमंत्रण कार्ड मिला है.

Also read: महिला प्रीमियर लीग की 9 दिसंबर को होने वाली नीलामी में कुल 165 खिलाड़ी होंगे शामिल

इन्हें मिला पहला निमंत्रण पत्र

मीडिया रिपोर्ट में बताया गया है कि अयोध्या में संतों को निमंत्रण मिलना शुरू हो गया है. इसी क्रम में महंत विष्णु दास ने पहला निमंत्रण मिलने पर आभार व्यक्त किया है. महंत विष्णु दास ने कहा कि भगवान राम के आशीर्वाद से आज मुझे समारोह का पहला निमंत्रण डाक से प्राप्त हुआ है. राम लला का मेगा प्राण प्रतिष्ठा समारोह 22 जनवरी को होगा, जिसमें देशभर के संतों को आमंत्रित किया गया है.

अयोध्या में राम मंदिर की सुरक्षा योजना 5 जनवरी से होगी लागू

उधर, अयोध्या में राम मंदिर के लिए बढ़ी हुई सुरक्षा योजना 5 जनवरी से लागू होगी. अगले साल 22 जनवरी को अयोध्या में राम लला के प्राण-प्रतिष्ठा समारोह के दौरान मंदिर की सुरक्षा योजना को सुनिश्चित करने के लिए सभी आवश्यक उपकरण स्थापित किए जाएंगे, जिनके माध्यम से राम जन्मभूमि पर पहुंचने वाले भक्तों को गुजरना होगा.

अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (सुरक्षा), आईजी पुलिस (अयोध्या रेंज), आईबी अधिकारी, अयोध्या मंडलायुक्त और श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के एक सदस्य ने इस संबंध में एक बैठक की.

Also read: Sleep Talking: क्या आप भी नींद में बड़बड़ाते है, जानें कारण और इलाज

अयोध्या मंडल के आयुक्त गौरव दयाल ने मीडियाकर्मियों को बताया, “सुरक्षा योजना के पहले चरण के लिए, राज्य सरकार ने 40 करोड़ रुपये जारी किए हैं.” दयाल ने कहा, “राम मंदिर की समग्र सुरक्षा योजना मंजूरी के लिए राज्य सरकार के पास है.”

कैसा होगा कार्यक्रम – Ayodhya Ram Mandir

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी रामलला की प्राण प्रतिष्ठा करेंगे और पहली आरती उतारेंगे. 22 जनवरी को अभिजीत मुहूर्त मृगषिरा नक्षत्र में दोपहर 12:20 बजे पीएम मोदी रामलला की प्राण प्रतिष्ठा करेंगे. इस दौरान राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरसंघचालक मोहन भागवत, यूपी की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ सहित अन्य खास मेहमान मौजूद रहेंगे. इसके बाद अयोध्या में मौजूद साधु संत राम मंदिर में दर्शन करेंगे तो वहीं 23 तारीख को भी रामलला के प्रसाद स्वरूप सभी संतो को उपहार भेंट किए जाएंगे.

संतों के साथ नहीं आ पाएंगे संत

मेगा प्राण प्रतिष्ठा समारोह में देशभर से संत शामिल होंगे. अयोध्या में ट्रस्ट के कार्यालय प्रभारी प्रकाश गुप्ता ने बताया कि सुनिश्चित किया जा रहा है कि निमंत्रण सभी नामित व्यक्तियों तक पहुंचें. उन्होंने बताया कि सिर्फ आमंत्रित व्यक्ति को ही कार्यक्रम में शामिल होने की अनुमति होगी. हमने संतों को सूचित कर दिया है कि उनके शिष्यों को समारोह में शामिल होने की अनुमति नहीं दी जाएगी.

Also read:  शिवराज सिंह 5वीं बार CM बनने के सवाल पर क्या बोले – देखें वीडियो

3 घंटे चलेगा भव्य समारोह

तय कार्यक्रम के अनुसार, समारोह 3 घंटे का होगा, जो सुबह करीब 11 बजे शुरू होकर दोपहर 2 बजे खत्म होगा. इसके बाद अन्य लोगों को प्रधानमंत्री मोदी के कार्यक्रम स्थल से चले जाने के बाद ही जाने की अनुमति होगी. प्रकाश गुप्ता ने बताया कि सुरक्षा कारणों से उपस्थित लोगों को कार्यक्रम स्थल पर सेल फोन नहीं लाने की सलाह दी जाती है.

Show More

Related Articles

Back to top button
Join Our Whatsapp Group