MP Breaking: मध्य प्रदेश में काउंटिंग को विवादमुक्त रखने के लिए बाहरी इलेक्ट्रॉनिक गजेट्स पर लगी रोक

MP Breaking News: मध्यप्रदेश में विधानसभा चुनाव 2023 के लिए होंने वाली मतगणना में इस बार मोबाइल-कैलकुलेटर के साथ ही स्मार्ट वाच, ईयरफोन और अन्य किसी भी प्रकार के इलेक्ट्रानिक्स गैजेट्स का उपयोग प्रतिबंधित रहेगा।

MP Breaking News: उज्जवल प्रदेश, भोपाल. मध्यप्रदेश में विधानसभा चुनाव 2023 के लिए होंने वाली मतगणना में इस बार मोबाइल-कैलकुलेटर के साथ ही स्मार्ट वाच, ईयरफोन और अन्य किसी भी प्रकार के इलेक्ट्रानिक्स गैजेट्स का उपयोग प्रतिबंधित रहेगा। केवल मतगणना सहायक ही कैलकुलेटर का उपयोग कर पाएंगे।

चुनाव आयोग ने प्रदेश के सभी जिला निर्वाचन अधिकारियों और सहायक रिटर्निंग आॅफिसरों को निर्देश जारी कर कहा है कि इस बार मतगणना स्थल पर पहुंचने वाले कर्मचारियों, राजनीतिक दल के प्रतिनिधियों और मीडिया कर्मियों की हाथघड़ी और कानों में उपयोग किये जाने वाले ईयरफोन लेकर कोई भी मतगणना स्थल के भीतर नहीं पहुंचे इसे रोकने का सख्ती से पालन करें।

वर्तमान में बाजार में ऐसी स्मार्ट वाच मौजूद है जो कालिंग के लिए भी उपयोग की जा सकती है और उनके जरिए वीडियो कॉलिंग, फोटो खीचकर सेंड करने, वाट्सएप,फेसबुक जैसे सोशली मीडिया प्लेटफार्मो का उपयोग किया जा सकता है। इसलिए इन्हें रोकने का सख्ती से प्रबंध किया जाए। मोबाइल फोन और कैलकुलेटर का उपयोग पहले की तरह ही इस बार भी प्रतिबंधित रहेगा। मतगणना केन्द्रों पर केवल पासधारक को ही प्रवेश मिल पाएगा। किसी भी अनाधिकृत और अवांछित व्यक्ति को मतगणना स्थल पर प्रवेश नहीं मिलेगा।

मतगणना केन्द्रों पर सभी व्यवस्थाएं भारत निर्वाचन आयोग द्वारा जारी किये गये दिशा निर्देशों के अनुरुप व्यवस्थित और चाक-चौबंद रहेंगी। निर्वाचन से जुड़ी सभी सूचनाएं प्रेक्षकों, राजनीतिक दलों, अभ्यर्थियो और मीडिया तथा सामान्यजन को निर्धारित समय के अंतराल से प्रदान की जाएंगी ताकि किसी भी प्रकार की असत्य या भ्रामक सूचनाएं प्रसारित न हो और किसी भी प्रकार की संवादहीनता की स्थिति नहीं रहे।

Also Read: Name Astrology: G नाम की राशि क्या है?, जानें इनकी लव लाइफ, खूबियां

डाक मतपत्रों की गणना में भी सारे नार्म्स एवं प्रोटोकाल का अक्षरश: पालन करने के निर्देश दिए गए है। डाक मतपत्रों की गिनती के आधा घंटे बाद ईवीएम के मतों की गिनती प्रारंभ होगी। इसके लिए मतगणनाकर्मियों और माइक्रो आब्जवर्स को प्रशिक्षण भी दिया जाएगा। मतगणना स्थल पर सीसीटीवी कैमरों की पर्याप्त व्यवस्था रहेगी। मतगणना के दिन रेंडमाइजेशन से लेकर विजयी उम्मीदवारों को निर्वाचन प्रमाणपत्र वितरित किए जाने में पूरी तरह से निष्पक्षता और पारदर्शिता का पालन करने के निर्देश चुनाव आयोग ने दिए है।

वैदर प्रूफ रहेंगे काउंटिंग स्थल, बारिश से बचाव के लिए टेंट का इंतजाम

बारिश -मावठे को देखते हुए इस बार चुनाव आयोग ने मौसम के हिसाब से मतगणन स्थलों को वैदर प्रूफ इंतजाम करने के निर्देश दिए है। सभी जिलों में मतगणना तो पक्के भवनों के अंदर सीसीटीवी कैमरो की निगरानी में होगी लेकिन बाहर राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों, मीडिया के रुकने और आमजनता को देखने के लिए लगाए गए बड़े स्क्रीन और उद्घोषणा स्थलों पर बारिश से बचाव के लिए टेंट में तिरपाल और अन्य प्रबंध करने को कहा गया है। बारिश से बचाव के लिए सभी तरह के पुख्ता प्रबंध करने के निर्देश चुनाव आयोग ने दिए है।

Financial Rules: 1 दिसंबर से होंगे ये बड़े बदलाव, LPG हो सकती हैं महंगी

Show More

Related Articles

Back to top button
Join Our Whatsapp Group